Tuesday, 16 February 2016

अपना तिरंगा


अपना तिरंगा
********************
सबसे प्यारा अपना तिरंगा
सबसे न्यारा अपना तिरंगा
तीन रंगों का बना तिरंगा
जन ,गण का सम्मान तिरंगा ।


वीरो की है शान तिरंगा
भारत की पहचान तिरंगा
दुनिया में है मान तिरंगा
देशभक्तों की जान तिरंगा ।

त्याग की पहचान तिरंगा
शांति की आवाम तिरंगा
सदा लहराता अपना तिरंगा
करते सदा सम्मान तिरंगा ।।

*********************
 रचना
महेन्द्र देवांगन "माटी"
(बोरसी - राजिम)
गोपीबंद पारा पंडरिया
जिला - कबीरधाम (छ. ग)

No comments:

Post a Comment