Sunday, 24 January 2016

छेरछेरा

छेरछेरा
*********
लइका सियान सब झोला धरके
दुवारी दुवारी में जावत हे
सबो कोई जुरमिल के
छेरछेरा छेरछेरा चिल्लावत हे।

डोकरी दाई दुवारी में बइठे
मुठा मुठा देवत हे
नोनी बाबू हांस हांस के
धान ल लेवत हे।

कोनों धरे टुकनी ल
कोनों झोला धरे हे
कोनों चूमड़ी ल धर के
आघू में खड़े हे ।

लोग लइका खुस होके
खावत हे मुररा लाई
सबो झन देवत हाबे
छेरछेरा के बधाई ।

सब झन ल छेरछेरा के गाड़ा गाड़ा बधाई

महेन्द्र देवागंन माटी
बोरसी - राजिम
(छ. ग.)
8602407353

No comments:

Post a Comment